Image
सेल्फ-डिफेंस

सेल्फ-डिफेंस


सेल्फ-डिफेंस

आत्मरक्षा क्या है? काफी लोग उत्सुक होगे यह विषय के बारे में जानने के लिए।

हम अक्सर सोचते है आत्मरक्षा मतलब किसी को मारना अपनी सुरक्षा के लिए।

यकीनन व्यापक पैमाने पर इसका मतलब यही होता है।

लेकिन में आपके साथ कुछ अनुभव शेयर करना चाहूंगी।

मेरा इवेंट एक मुंबई के एनजीओ में हुआ था। जैसे ही इवेंट शुरू हुआ, मेने लड़कियों से पूछा की मुझे बताइए के आप सब आत्मसुरक्षा क्यू सिख रहे है? 

तो सबने एक ही साथ कहा, लड़के हमे छेड़ते है इसलिए। और हम उनसे अपनी आत्मसुरक्षा कर सके। 

खेर इन लड़कियों का कसूर नहीं है। आम तौर पर आत्मसुरक्षा का मतलब लडको के साथ ही संबंधित किया जाता है।

और क्यू ना हो, हमारा समाज अभी उस दृष्टिकोण तक नही पहुंचा जहा नारी मतलब सम्मान।

मुंबई मोबाइल क्रेसेच से मुझे फोन आया एक लड़की का उसने मुझे पूछा मुझे और कुछ आगे आत्मरक्षा में सीखने की ज़रूरत है?

मेने उसे कहा मेने तुम्हे आत्मरक्षा का क्लास लेते वक्त मेने तुमपे गौर किया था। तुमने जितना सीखा है वो पर्याप्त है। तुम परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार हो।

मुंबई के धारावी में जब आत्मरक्षा की वर्कशॉप हुई थी। तो मेने वर्कशॉप के बाद उनसे कहा की मुझे उन लड़कियों का वीडियो देना जो पहले बिलकुल नहीं बोलती थी लेकिन आत्मरक्षा के वर्कशॉप के बाद कुछ कहेने के सक्षम हो। चाहे एक शब्द धन्यवाद भी क्यू  ना हो।

वही एक बार मेरी मुलाकात आईसी पेरिश विमेन सेल की सदस्य के साथ हुई।

उसने मुझे कहा क्यू ना हम आत्मसुरक्षा घरेलू स्त्री जो हिंसा का शिकार बनती है उन्हे सिखाए।

आत्मरक्षा का सही मायनो में सरल अर्थ है।

लेकिन हमारी पिछड़ी सोच हमे अभी तक एक स्त्री और पुरुष में होने वाले घर्षण से ही उभरने का मोका नहीं दे पा रही है।

स्त्री आत्मरक्षा मतलब एक स्त्री को समाज के पुरुष वर्ग से नही बल्कि समाज में आगे आने वाली चुनौतियों का सामना डटकर कर सके, उस चुनौतियों के बीच अपना मुकाम हासिल कर सके, और समाज को एक नई दिशा दे सके, यही शी सेल्फ फाउंडेशन की स्त्री आत्मरक्षा का उद्देश्य है।

क्यू की जब एक स्त्री का विकास होता है तो पूरे समाज का विकास होता है।

तृप्ति शुक्ला-मुंबई

YOUR COMMENT

हमारे बारे में

नई पीढ़ी अपने विभिन्न अंकों के माध्यम से नये भारत व वर्तमान समाज के तमाम ज्वलंत सवालों पर न केवल बौध्दिक क्रांन्ति की अलख जगा रहा है वरन् उससे भी एक कदम आगे बढ़ कर ‘‘नई पीढ़ी फाउंडेशन’’ के माध्यम से एक सामाजिक नव जागरण की दिशा में भी आगे बढ़ रहा है। 'नई पीढ़ी फाउंडेशन' अपने विभिन्न मंचों (महिला मंच, अभिभावक मंच, शिक्षक मंच, पर्यावरण मंच) इत्यादि के माध्यम से समाज के विभिन्न वर्गों को नई पीढ़ी के नव निर्माण हेतु कार्य करने को प्रेरित कर रहा है। फाउंडेशन का एक मात्र उद्देश्य नई पीढ़ी को देश का सच्चा नागरिक बनने में सहयोग करते हुये मानव कल्याण के दिशा में प्रेरित करना है।

ON FACEBOOK

CONTACT US